करोड़पति बनाने की गारंटी देने पर फंसे बाबा रामदेव

योग गुरु बाबा रामदेव (Ramdev) अपनी कंपनी रुचि सोया के शेयर खरीदने की सलाह के साथ करोड़पति बनने की गारंटी देने वाली सलाह को लेकर शेयर बाजार को रेगुलेट करने वाली संस्था भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड सेबी के निशाने पर आ गए हैं.

खबर है कि बयान से नाराज सेबी ने बाबा रामदेव को नोटिस जारी पूछा है कि उन्होंने नियामक मानदंडों का उल्लंघन क्यों किया. ज्ञात हो दिवाला प्रक्रिया के तहत बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने 2019 में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था. यह कंपनी शेयर बाजार में लिस्टेड है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि एक टीवी चैनल पर प्रसारित अपने योग सत्र के दौरान योग गुरु रामदेव ने रुचि सोया के स्टॉक में निवेश करने का आग्रह किया.

यह वीडियो वायरल होने पर सेबी की नजर में भी आया सेबी ने वीडियो में पाया कि बाबा रामदेव ने कुछ ऐसी बातें भी कहीं हैं जो कि आपत्तिजनक हैं, इसके बाद ही सेबी ने रुचि सोया को नोटिस जारी किया है. दरअसल बाबा रामदेव ने इस योग सत्र के दौरान करोड़पति बनने की गारंटी दे दी है. पता चला है कि इस वीडियो में रामदेव कहते हैं कि आजकल रुचि सोया के एफपीओ पर बहुत चर्चा है अब क्या आप करोड़पति बनना चाहते हैं मैं करोड़पति बनने का मंत्र दूंगा आगे रामदेव कहते हैं कि मैंने अभी-अभी शेयर बाजार में निवेश करने के तरीके सीखे हैं.

शेयरों में व्यापार करने के लिए एक डीमैट खाते की आवश्यकता होती है. वीडियो में स्वामी रामदेव कहते देख रहे हैं कि इसलिए आज ही एक डीमैट खाता खोलें ये बातें सलाह के तौर पर सेबी ने देखी लेकिन इसके आगे जो बात रामदेव ने कही वह सेबी की नजर में आपत्तिजनक है. रामदेव ने वीडियो में इसके आगे कहा है कि जब मैं आपको बताऊं तो अपने डीमैट खाता में रुचि से सोया के शेयर खरीदें.

रुचि सोया के बाद पतंजलि आयुर्वेद के शेयर खरीदें. ज्ञात हो पतंजलि अभी शेयर बाजार में लिस्टेड नहीं है लेकिन कंपनी आईपीओ के जरिए शेयर बाजार में अपनी एंट्री का ऐलान कर चुकी है, ऐसे में माना यह जा रहा है कि पतंजलि अगले साल शेयर बाजार में लिस्टेड हो जाएगी. इस वीडियो क्लिप में बाबा रामदेव आगे यह कहते देखते हैं कि रुचि सोया का एफपीओ चल रहा है और पतंजलि का आकलन किसी भी एजेंसी से करवाया जा सकता है.

पतंजलि का मार्केट कैप हजारों करोड़ में होगा इसलिए जो कोई भी पतंजलि और रुचि सोया के शेयरों में निवेश करता है उसे एक करोड़पति बनने से नहीं रोका जा सकता है. यह गारंटी मैं आपको दे रहा हूं. मीडिया रिपोर्ट्स बताती हैं कि दरअसल जिस तरह बाबा रामदेव ने करोड़पति बनने की गारंटी दी है इस तरह की गारंटी की बात करना सेबी के नियमों के खिलाफ है.

सेबी के नियमों के अनुसार किसी कंपनी के अधिकारी या कंपनी के तरफ से निवेशकों को लुभाने वाले ऐसे बयान नहीं दिए जा सकते हैं. शेयरों के बारे में ऐसी सलाह देने के लिए उसे सेबी में रजिस्टर्ड निवेश सलाहकार होना जरूरी है।.

बताया जाता है कि वर्ष 2017 में ऐसे ही एक मामले में सेबी ने इमामी के चेयरमैन आर एस अग्रवाल पर आठ लाख का जुर्माना लगाया था. अब देखना यह होगा बाबा रामदेव इस नोटिस का जवाब कब और क्या देते हैं तथा उससे सेबी कितना संतुष्ट हो पाती है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस संबंध में बाबा रामदेव की कंपनी की ओर से कोई बयान नहीं आया है.